पटना के महावीर मंदिर  और इसके अस्पताल पर इस वर्ष 22.60 रुपये खर्च होंगे : किशोर कुणाल

Desk Editor
Desk Editor 4 Min Read

पटना : महावीर मन्दिर न्यास के सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने मंगलवार को घोषणा की कि चालू वित्तीय वर्ष में महावीर मन्दिर और इसके अस्पताल पर कुल लगभग 22.60 करोड़ रुपये खर्च करेंगे। इनमें महावीर कैंसर संस्थान में 18 साल तक के कैंसर पीड़ितों के निःशुल्क इलाज पर 5.50 करोड़ रुपये खर्च किये जाएंगे। महावीर कैंसर संस्थान के ब्लड बैंक में कैंसर मरीजों को मात्र 100 रुपये में एक यूनिट ब्लड दिया जाता है। देश के किसी सरकारी, गैर सरकारी या सेवा भावी संस्था की ओर से इतनी सस्ती दर पर रक्त उपलब्ध नहीं कराया जाता है। उन्होंने कहा कि इस मद में इस वित्तीय वर्ष में 1 करोड़ रुपये खर्च अनुमानित है। महावीर मन्दिर की ओर से कैंसर मरीजों के प्रारंभिक जांच और शुरुआती इलाज के लिए 10 से 15 हजार रुपये प्रति मरीज अनुदान राशि दी जाती है। इस वित्तीय वर्ष में इस मद में 1.75 करोड़ रुपये अनुमानित है। आचार्य कुणाल ने कहा कि चालू वित्तीय वर्ष में महावीर अस्पतालों में गरीब मरीजों को इलाज में विशेष छूट पर महावीर मन्दिर द्वारा 3 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इतनी ही राशि महावीर मन्दिर द्वारा संचालित अस्पताल भी वहन करेंगे। गरीब मरीजों को इलाज में विशेष छूट की कुल राशि में से आधी महावीर मन्दिर न्यास द्वारा और आधी राशि संबंधित महावीर अस्पतालों द्वारा वहन की जाती है। उन्होंने बताया कि महावीर मन्दिर द्वारा संचालित अस्पतालों में रियायती दरों पर गुणवत्ता पूर्ण इलाज की सुविधा दी जा रही है। फिर भी ऐसे कई मरीज आते हैं जो रियायती दरों पर भी इलाज में सक्षम नहीं रहते। उनके लिए महावीर अस्पतालों में 10 प्रतिशत, 20 प्रतिशत और 50 प्रतिशत तक छूट का प्रावधान किया है। विभागों के विभागाध्यक्ष अपने स्तर पर गरीब मरीजों को इलाज में 10 प्रतिशत तक छूट दे सकते हैं। अपर निदेशक या निदेशक इलाज के बिल में 20 प्रतिशत तक रियायत दे सकते हैं। अधिक निर्धन मरीजों के लिए निदेशक, अपर निदेशक और चिकित्सा अधीक्षक की समिति को 50 प्रतिशत तक छूट देने के लिए अधिकृत किया गया है। यह समिति मरीजों की वास्तविक स्थिति का आकलन कर छूट के संबंध में उचित निर्णय ले सकती है। महावीर मन्दिर के अस्पतालों को मन्दिर न्यास की ओर से इस वर्ष 2.80 करोड़ रुपये अनुदान भी दिया जाएगा। महावीर मन्दिर, पटना में प्रतिदिन दरिद्रनारायण भोज कराया जाता है। इन तीनों मदों को मिलाकर इस वित्तीय वर्ष में 3.50 करोड़ रुपये खर्च किये जाएंगे। महावीर मन्दिर न्यास द्वारा संचालित सभी अस्पतालों में भर्ती मरीजों को दोनों समय निःशुल्क भोजन और सुबह का नाश्ता दिया जाता है। इस पर भी इस साल 1.20 करोड़ रुपये खर्च होंगे। महावीर मन्दिर के चालू वित्तीय वर्ष के बजट में दलित उत्थान एवं सहायता के लिए 20 लाख रुपये की राशि का प्रावधान किया गया है। गरीबों को स्वास्थ्य क्षेत्र के अलावा अन्य प्रकार से मदद के लिए 50 लाख रुपये निर्धारित किए गए हैं। इस प्रकार, महावीर मन्दिर न्यास गरीबों की सहायता एवं राहत के लिए अनेक प्रकल्प चलाकर ‘परोपकारः पुण्याय’ की आर्ष वाणी को चरितार्थ कर रहा है। महावीर मन्दिर का मूल मंत्र है – सर्वभूतहिते रतः यानी सभी प्राणियों के कल्याण के लिए यह न्यास प्रयत्नरत है।

Share This Article
Leave a comment