राजद के एक नेता ने अब दिया ब्राह्मणों पर विवादित बयान

Desk Editor
Desk Editor 3 Min Read

पटना : बिहार में सत्तारुढ़ महागठबंधन के दो प्रमुख दल राजद और जदयू अपने नेताओं के विवादित बयानों को लेकर कई बार आमने-सामने आ चुके हैं।  बावजूद इसके राजद के नेता अपने बेतुके बयानबाजी से बाज नहीं आ रहे हैं। अब राजद के एक और नेता ने ब्राह्मणों को बाहरी बता दिया है। पूर्व विधायक यदुवंश यादव के विवादित बयान पर जदयू ने कड़ी आपत्ति जताई है और माफी मांगने को कह दिया है। गौरतलब है कि बिहार में महागठबंधन की सरकार बनने के बाद राजद कोटे के मंत्री लगातार विवादित बयान देकर सियासत को गर्मा दे रहे हैं। राजद कोटे के मंत्री चंद्रशेखर, सुरेंद्र यादव और आलोक मेहता समेत अन्य नेताओं का विवादित बयानों से पुराना नाता रहा है। शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर के रामचरितमानस को लेकर विवादित बयान देने के बाद से जो सिलसिला शुरू हुआ ,वह थमने का नाम नहीं ले रहा है। चंद्रशेखर के बयान के बाद मंत्री सुरेंद्र यादव ने सेना को लेकर विवादित टिप्पणी कर दी। इसके बाद मंत्री आलोक मेहता ने सवर्णों को लेकर विवादित बोल बोले। इसी कड़ी में राजद के पूर्व विधायक और राष्ट्रीय सचिव यदुवंश कुमार यादव ने एक विवादित बयान देकर बिहार के सियासी पारे को चढ़ा दिया है। यादव ने कहा है कि भारत के ब्राह्मण समाज के लोग भारतीय नहीं हैं, बल्कि रूस और अन्य देश के रहने वाले हैं और भारत में आकर बस गए हैं। राजद नेता ने दावा किया है कि डीएनए जांच से इसका खुलासा हुआ है कि सभी रूस और दूसरे देशों से आए है। इनके आतंक के चलते वहां से इन्हें भगाया गया था। जिसके बाद ये सभी भारत आ गए। राजद नेता के इस बयान पर जदयू ने कड़ी आपत्ति जताई है। जदयू के प्रवक्ता अभिषेक झा ने कहा कि ऐसे घटिया बयान देने वालों पर राजद को तुरंत कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि राजद के नेता मीडिया में बने रहने के लिए इस तरह की बयानबाजी करते हैं। ऐसे नेता महागठबंधन की छवि को धूमिल कर रहे हैं, राजद इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करे।

Share This Article
Leave a comment