मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी से मिले आदित्य ठाकरे

Desk Editor
Desk Editor 4 Min Read

महेश कुमार सिन्हा

पटना : बिहार में सियासी बदलाव होने और महागठबंधन की सरकार बनने के बाद से राजनीतिक हलचल बढ़ी हुई है। देश के कई बड़े नेता लगातार बिहार के दौरे पर आ रहे हैं। इसी कड़ी में शिवसेना नेता और महाराष्ट्र सरकार के पूर्व मंत्री आदित्य ठाकरे ने बुधवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव से मुलाकात की। श्री ठाकरे सबसे पहले राबड़ी आवास पहुंचे। वहां पर तेजस्वी यादव ने उनका स्वागत किया। इस दौरान उपमुख्यमंत्री ने आदित्य ठाकरे को लालू यादव की जीवनी पर लिखी किताब भेंटी की। तेजस्वी ने उनको मिथिला पेंटिंग वाली शॉल ओढ़ाकर स्वागत किया। दरअसल, मिथिला पेंटिंग को बिहार के खास चित्रकारी कला के रूप में जाना जाता है। इसलिए तेजस्वी ने आदित्य को मिथिला की निशानी भेंट की। वहीं, आदित्य ही अपने साथ परम्परागत महाराष्ट्र हथकरघा शॉल और शिवाजी की प्रतिमा लेकर आए थे। उन्होंने तेजस्वी को महाराष्ट्र की निशानी भेंट की। शिवसेना के युवा नेता आदित्य ठाकरे पौने 2 घंटे पटना में रहे। राबड़ी आवास पर दोनों नेताओं के बीच लगभग 45 मिनट तक बातचीत हुई। इस दौरान प्रियंका चतुर्वेदी और अनिल देसाई भी मौजूद रहे। उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव से उनके घर पर मुलाकात के बाद दोनों नेता मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलने पहुंचे। यहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी शाल ओढ़ाकर आदित्य ठाकरे का स्वागत किया। इसके बाद तीनों नेताओं के बीच बातचीत हुई। तेजस्वी ने इस मुलाकात के बाद कहा कि अभी लोकतंत्र और संविधान को बचाने की चुनौती हमारे सामने है और इसे बचाने के लिए हमसे जो बनेगा, वो हम करेंगे। वहीं, शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने कहा कि आज अलग-अलग विषयों पर चर्चा हुई है। देश में जो भी युवा महंगाई, रोजगार और संविधान के लिए काम करना चाहता है, अगर वे आपस में बातचीत करते रहें तो देश में कुछ अच्छा कर सकेंगे। इससे पहले आदित्य ठाकरे दोपहर बाद पटना पहुंचे थे। पटना पहुंचने पर एयरपोर्ट पर उपस्थित बड़ी संख्या में शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने आदित्य ने गर्मजोशी से स्वागत किया। उनके स्वागत के लिए उमड़े कार्यकर्ताओं ने जमकर उनके समर्थन में नारेबाजी की। पटना पहुंचने पर आदित्य ठाकरे ने कहा कि बिहार समेत तमाम देश के युवाओं को साथ आकर हमलोगों को कदम से कदम मिलाना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैं पटना पहली बार आया हूं। स्वागत से अभिभूत हूं। उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव के साथ अच्छी दोस्ती बनेगी। आदित्य ने कहा कि हमारी उम्र भी लगभग बराबर है। देश के मुद्दों को लेकर हमारी सोच है। उन्होंने कहा कि बिहार समेत तमाम देश के युवाओं को साथ आकर हमलोगों के कदम से कदम मिलाना चाहिए। आदित्य ठाकरे ने कहा कि दो युवा मिले हैं तो बढ़िया मुद्दों पर साथ मिलकर काम करेंगे। महंगाई और बेरोजगारी के मुद्दे पर आदित्य ठाकरे ने कहा कि हम सबको एक होना होगा। यदि युवा एक साथ होंगे तो सिर्फ बिहार या महाराष्ट्र नहीं बल्कि पूरे देश की तरक्की होगी। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि हमें सबसे पहले यह देखना होगा कि हमारी सोच युवाओं को लेकर क्या है।

Share This Article
Leave a comment