बिहार के नगर निकाय चुनाव में बड़ा उलटफेर, अनिता राम ने मेयर चुनाव जीता

Desk Editor
Desk Editor 3 Min Read

पटना : बिहार में हुए नगर निकाय चुनाव में बड़े उलटफेर हो रहे हैं। चुनाव के परिणाम राज्य के बड़े नेताओं के लिए दुखदायी साबित हो रहे हैं और कई दिग्गजों के रिश्तेदारों को जनता नकार रही है। बिहार सरकार के मंत्री मदन सहनी की भाभी और विधानसभा उपाध्यक्ष की पत्नी चुनाव हार गई है। जबकि लालू सरकार में मंत्री रहे रामाश्रय सहनी वार्ड पार्षद का चुनाव जीत गए हैं। बिहार विधानसभा के उपाध्यक्ष महेश्वर हजारी की पत्नी संध्या हजारी समस्तीपुर में मेयर का चुनाव लड़ रहीं थीं और वह चुनाव हार गईं हैं। संध्या हजारी को कड़ी टक्कर देते हुए अनिता राम ने मेयर चुनाव में जीत दर्ज की है।  बिहार सरकार के मंत्री मदन सहनी की भाभी यमुना देवी दरभंगा से डिप्टी मेयर का चुनाव लड़ रही थी,पर जनता ने उन्हें नकार दिया है और उन्हें हार का सामना करना पड़ा है। वहीं महेश्वर हजारी की पत्नी संध्या हजारी को हार का सामना करना पड़ा है और वह तीसरे स्थान पर रही हैं। वहीं पूर्व उपमुख्यमंत्री रेणू देवी की बहू भी चुनाव हार गई हैं। वह बेतिया मेयर पद के लिए चुनाव लड़ रही थी। बेतिया नगर निगम के लिए गरिमा देवी का सीधा मुकाबला पूर्व उपमुख्यमंत्री रेणू देवी की बहू सुरभि घई से था। रेणू देवी का नाम जुड़े होने के कारण सुरभि को जीत का बड़ा दावेदार माना जा रहा था। लेकिन बेतिया शहर की जनता ने बता दिया कि चुनाव में किसी बड़े चेहरे को देखने की जगह योग्य और काबिल नेता को अपना जनप्रतिनिधि चुना है। उधर, समस्तीपुर से डिप्टी मेयर का चुनाव रामबालक पासवान जीत गए हैं। जबकि सीतामढ़ी से विशाल कुमार ने मेयर पद और आशुतोष कुमार ने डिप्टी मेयर पर जीत दर्ज की है। अब दरभंगा में अंजुम आरा ने मेयर पद पर और नाजिया हसन ने डिप्टी मेयर पद पर जीत दर्ज की है। कटिहार में मेयर पद पर विधान पार्षद अशोक अग्रवाल की पत्नी ऊषा देवी अग्रवाल ने जीत दर्ज की है। वहीं उप मेयर पद के लिए भाजपा नेता रामबालक पासवान चुनाव जीत गए हैं। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी सुजय कुमार को पराजित किया।

Share This Article
Leave a comment