Thursday, November 30, 2023

Latest Posts

कर्नाटक में कांग्रेस की जीत से मजबूत होगी नीतीश की विपक्षी एकता की मुहिम

महेश कुमार सिन्हा

पटना : कर्नाटक विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत का विपक्ष की राजनीति पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। कांग्रेस की इस जीत से गैर भाजपा दलों को एकजुट करने की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की मुहिम को मजबूती मिलेगी। विपक्षी एकता को लेकर नीतीश कुमार की सक्रियता अब और बढ़ेगी। क्योंकि कांग्रेस नेतृत्व की हामी के बाद ही उन्होंने विभिन्न राज्यों का दौरा कर क्षेत्रीय दलों के नेताओं से मिलने का सिलसिला शुरु किया था।

कर्नाटक में कांग्रेस की जीत के बाद विपक्षी एकता की मुहिम से वे पार्टियां भी जुड़ सकती हैं जिन्हें  अब तक कांग्रेस  से परहेज था। राजनीतिक पंडितों का मानना है कि विपक्ष की एकजुटता जितनी ताकतवर होगी, 2024 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के खिलाफ विपक्ष उतना ही मजबूत होगा। इनका कहना है कि पीएम नरेन्द्र मोदी के खिलाफ लड़ाई के लिये कांग्रेस का मजबूत होना जरुरी है।

दरअसल,कर्नाटक विधानसभा का चुनाव कांग्रेस और भाजपा दोनों के लिये प्रारंभिक परीक्षा थी। हालांकि यह कहना जल्दबाजी होगा कि कर्नाटक के नतीजे अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव  के पहले देश के मतदाताओं का मूड बदलने का काम कर सकते हैं। वैसे भी हिमाचल प्रदेश  की तरह कर्नाटक  ऐसा राज्य है जो हर पांच साल में सरकार बदल देता है। अलबत्ता लोकसभा चुनाव से पूर्व होने वाले चार राज्यों राजस्थान, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और तेलंगाना में विधानसभा चुनाव होना है। कर्नाटक के नतीजे  इन्हें प्रभावित कर सकते हैं।

जहां तक नीतीश कुमार के आगे के सफर की बात है तो उनकी मुश्किलें बढ़ सकती है। कर्नाटक में शानदार जीत के बाद कांग्रेस विपक्ष की एकजुटता में अपनी कुछ शर्तें जोड़ सकती है।  नीतीश कुमार को विपक्षी एकता के नेतृत्व से पीछे हटना पड़ सकता है। सीटों के बंटवारे में  भी अब कांग्रेस अपनी वाजिब हिस्सेदारी सुनिश्चित  करना चाहेगी।

लेखक : वरिष्ठ पत्रकार हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Posts

spot_imgspot_img

Don't Miss

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.