चाहे लाख रच ले तू षड्यंत्र, लालू यादव की लोकप्रियता का न होगा कभी अंत : रोहिणी आचार्य

Desk Editor
Desk Editor 2 Min Read

पटना : सीबीआई द्वारा आईआरसीटीसी घोटाला मामले की जांच फिर से शुरू किये जाने से राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गयी है। राजद बंद हो चुके इस मामले को दोबारा खोले जाने पर बिफरा हुआ है। जाहिर है इससे राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें एक बार फिर से बढ़ने वाली है। इस मामले की जांच वर्ष 2018 में शुरु हुई थी, लेकिन बाद में मई 2021 में इसकी जांच प्रक्रिया बंद कर दी गयी थी। लेकिन अब एक बार फिर से इसी मामले में लालू यादव और उनसे जुड़े लोगों के खिलाफ सीबीआई जांच  फिर से शुरू होने की खबर है। इस जांच से उनकी बेटी रोहिणी आचार्य भड़क गई हैं। उन्होंने मंगलवार को कई ट्वीट किए। रोहिणी ने भाजपा पर हमला बोला है। रोहिणी आचार्य ने ट्वीट कर लिखा- “भाजपा के राजनीतिक योजना का बन गया है हिस्सा ,देश की जांच एजेंसियों का यही है किस्सा।” एक और ट्वीट में लिखा- “माफीवीरों के औलादों ना तोड़ पाओगे लालू जी का आत्मविश्वास क्योंकि जनता-जनार्दन का आशीर्वाद है, लालू जी के साथ।” इसी तरह रोहिणी आचार्य ने आगे लिखा- “चाहे लाख रच ले तू षड्यंत्र, लालू जी की लोकप्रियता का न होगा कभी अंत। इतिहास याद करेगा उनके कार्यकाल को जिन्होंने हजारों करोड़ों का मुनाफा दिया भारतीय रेल को।” उधर, उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव भी ने अपनी नाराजगी जाहिर की। तेजस्वी यादव ने कहा कि पहले भी जांच हो चुकी है। इस केस में कुछ मिला नहीं है। इस केस को फिर से ओपन किया जा रहा है। लालू यादव और मेरा जीवन तो खुली किताब है। सीबीआई को तो पहले भी बोल चुका हूं कि मेरे घर को दफ्तर ही बनाना है तो बना सकती है।राजद उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने सीबीआई से जानना चाहा है कि पहले यह मामला  क्यो बंद किया गया था और अब फिर  इसकी जांच क्यों शुरु की जा रही है।

Share This Article
Leave a comment