भाजपा ने सीएम और डिप्टी सीएम पर आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज कर की कार्रवाई की मांग

Desk Editor
Desk Editor 3 Min Read

Contents
महेश कुमार सिन्हापटना ।  भाजपा की बिहार इकाई ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव पर आचार संहिता का उल्लंघन करने का आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। पार्टी ने इस संबंध में शुक्रवार को राज्य निर्वाचन आयोग में शिकायत की है।भाजपा ने अपने शिकायत पत्र में कहा है कि नगर निकाय चुनाव को लेकर पूरे प्रदेश में आचार संहिता लागू है। फिर भी सीएम और डिप्टी सीएम कैंप लगाकर नौकरियां बांट रहे हैं। इस पर रोक लगाते हुए सीएम और डिप्टी सीएम के खिलाफ संबंधित जिलों में आदर्श आचार संहिता के उल्लघंन का मामला दर्ज हो। साथ ही दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई भी हो। पत्र में कहा गया है कि बिहार में नगर निगम, नगर निकाय का चुनाव अभी बाधित है और पूरे प्रदेश में आचार संहिता लागू है। इसके बावजूद भी बिहार के मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री कैंम्प लगाकर नौकरियां बांट रहे हैं। साथ ही साथ नालंदा एवं गया ऐसे शहरों में नल-जल योजना का शिलान्यास कर रहे हैं। वहीं अन्य दल के विधायक एवं सांसदों का विकास निधि एवं अन्य सामाजिक कार्य पर राज्य निर्वाचन आयोग के प्रशासनिक पदाधिकारी द्वारा रोक लगाई जा रही है, जो कहीं से न्यायसंगत दिखाई नहीं देता है। भाजपा ने राज्य निर्वाचन आयोग से मांग की है कि मुख्यमंत्री नीतीश एवं उपमुख्यमंत्री तेजस्वी पर तत्काल कार्रवाई करते हुए आचार संहिता के उल्लंघन  का मुकदमा तत्काल दर्ज करने का आदेश तमाम जिला पदाधिकारी को दें।साथ ही वैसे पदाधिकारी को चिन्हित करें, जिन्होंने इस प्रोग्राम को करने की अनुमति दी है। उन्हें भी इन तमाम मुकदमों में आरोपी बनाया जाए। मुख्यमंत्री एवं उपमुख्यमंत्री द्वारा कहीं न कहीं आचार संहिता रहते हुए लोगों के बीच नौकरियां बांटना एवं योजनाओं का शिलान्यास करना, वहां के स्थानीय निकाय चुनाव को प्रभावित करने की योजना है। पार्टी ने इस  मामले में तत्काल कार्रवाई करते हुए राज्य निर्वाचन आयोग से दोषी पदाधिकारियों पर कार्रवाई करने बिहार के मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री पर तत्काल सभी जिलों में मुकदमा दर्ज करने की मांग की है।

महेश कुमार सिन्हा

पटना ।  भाजपा की बिहार इकाई ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव पर आचार संहिता का उल्लंघन करने का आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। पार्टी ने इस संबंध में शुक्रवार को राज्य निर्वाचन आयोग में शिकायत की है।भाजपा ने अपने शिकायत पत्र में कहा है कि नगर निकाय चुनाव को लेकर पूरे प्रदेश में आचार संहिता लागू है। फिर भी सीएम और डिप्टी सीएम कैंप लगाकर नौकरियां बांट रहे हैं। इस पर रोक लगाते हुए सीएम और डिप्टी सीएम के खिलाफ संबंधित जिलों में आदर्श आचार संहिता के उल्लघंन का मामला दर्ज हो। साथ ही दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई भी हो। पत्र में कहा गया है कि बिहार में नगर निगम, नगर निकाय का चुनाव अभी बाधित है और पूरे प्रदेश में आचार संहिता लागू है। इसके बावजूद भी बिहार के मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री कैंम्प लगाकर नौकरियां बांट रहे हैं। साथ ही साथ नालंदा एवं गया ऐसे शहरों में नल-जल योजना का शिलान्यास कर रहे हैं। वहीं अन्य दल के विधायक एवं सांसदों का विकास निधि एवं अन्य सामाजिक कार्य पर राज्य निर्वाचन आयोग के प्रशासनिक पदाधिकारी द्वारा रोक लगाई जा रही है, जो कहीं से न्यायसंगत दिखाई नहीं देता है। भाजपा ने राज्य निर्वाचन आयोग से मांग की है कि मुख्यमंत्री नीतीश एवं उपमुख्यमंत्री तेजस्वी पर तत्काल कार्रवाई करते हुए आचार संहिता के उल्लंघन  का मुकदमा तत्काल दर्ज करने का आदेश तमाम जिला पदाधिकारी को दें।साथ ही वैसे पदाधिकारी को चिन्हित करें, जिन्होंने इस प्रोग्राम को करने की अनुमति दी है। उन्हें भी इन तमाम मुकदमों में आरोपी बनाया जाए। मुख्यमंत्री एवं उपमुख्यमंत्री द्वारा कहीं न कहीं आचार संहिता रहते हुए लोगों के बीच नौकरियां बांटना एवं योजनाओं का शिलान्यास करना, वहां के स्थानीय निकाय चुनाव को प्रभावित करने की योजना है। पार्टी ने इस  मामले में तत्काल कार्रवाई करते हुए राज्य निर्वाचन आयोग से दोषी पदाधिकारियों पर कार्रवाई करने बिहार के मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री पर तत्काल सभी जिलों में मुकदमा दर्ज करने की मांग की है।

लेखक : न्यूजवाणी के बिहार के प्रधान संपादक हैं और यूएनआई के ब्यूरो चीफ रह चुके हैं

Share This Article
Leave a comment