भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष राजीव रंजन का पार्टी से इस्तीफा

Desk Editor
Desk Editor 2 Min Read

 

पटना : भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष और मीडिया विभाग के प्रभारी राजीव रंजन ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। राजीव रंजन ने अपना त्याग पत्र शुक्रवार को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल को भेज दिया है। इसमें कहा गया है कि बिहार भाजपा आज प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी की नीतियों व आदर्शों से पूरी तरह भटक चुकी है। प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी के ‘सबका साथ-सबका विकास की बात केवल कहने तक ही सीमित हो चुकी है। आज पार्टी में पिछड़ा, अतिपिछड़ा और दलित समाज के विरोधी तत्व हावी हो चुके हैं। हालात यह है कि जो नेता पिछड़े समाज के नहीं है वह भी इस समाज के नाम पर दशकों से सत्ता सुख भोग रहे हैं। इनके चहेते चंद नेताओं के अतिरिक्त पार्टी में पिछड़ा,अतिपिछड़ा और दलित समाज के नेताओं का उपयोग केवल झंडा ढ़ोने तक ही सीमित कर दिया गया है, जो प्रधानमन्त्री की नीतियों की सरासर उपेक्षा है। इसी तरह पार्टी के एजेंडा सिर्फ और सिर्फ पटना तक ही सीमित रह गया है। नालंदा जिले की बात तक नहीं होती। यह सरासर नालंदा और अन्य जिलों की उपेक्षा है। क्षेत्र में जनता द्वारा पूछे जाने पर हम जवाब तक नहीं दे पाते। इसके अतिरिक्त और भी विषय हैं जिनपर मेरा पार्टी से मतैक्य नहीं है। कई विषय मैं इस पत्र में नहीं लिख रहा, लेकिन आने वाले समय में उन्हें उठाता रहूंगा। इसीलिए मैं पार्टी के पद और सदस्यता से अपना त्यागपत्र देता हूं। आपसे अनुरोध है कि इस त्यागपत्र को स्वीकार कर मुझे पार्टी प्रदत दायित्वों से मुक्त करें।

Share This Article
Leave a comment