लालू परिवार पर सीबीआई ने कसा शिकंजा

Desk Editor
Desk Editor 3 Min Read

पटना : रेलवे में नौकरी के बदले जमीन मामले में अब लालू परिवार पर सीबीआई का शिकंजा कसा जाने लगा है। जांच एजेंसी ने अब न सिर्फ लालू परिवार में उनके बेटे-बेटी और पत्नी बल्कि दामाद को भी अपनी संपत्ति का ब्योरा देने का फरमान जारी कर दिया है। सीबीआइ ने लालू परिवार के सभी सदस्यों के साथ दामाद के नाम से खरीदी गई संपत्ति का ब्योरा मांगा है। ऐसे में लालू यादव के रेल मंत्री रहते हुए सभी बेटियों के नाम पर खरीदी गई जमीन या गिफ्ट की गई या लीज पर दी गई अचल संपत्ति का विवरण सीबीआई को देना होगा। सीबीआई ने 2004 से 2009 तक का हिसाब-किताब तत्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव, पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव, मंत्री तेजप्रताप यादव एवं मीसा भारती समेत सभी सात बेटियों से मांगी है। इसके अलावे मीसा भारती के पति शैलेश कुमार, रोहिणी आचार्य के पति समरेश सिंह, चंदा यादव के पति विक्रम सिंह, रागिनी यादव के पति राहुल यादव, धन्नू यादव उर्फ अनुष्का यादव के पति चिरंजीव राव, हेमा यादव के पति विनीत यादव और राज लक्ष्मी यादव के पति तेज प्रताप सिंह यादव को भी अपनी संपत्ति का विवरण सीबीआई को देना होगा। सीबीआइ के पुलिस अधीक्षक, आर्थिक अपराध इकाई  ने राज्य के निबंधन महानिरीक्षक (आईजी) को पत्र भेजकर ब्योरा उपलब्ध कराने को कहा है। इसके आलोक में सहायक निबंधन महानिरीक्षक मनोज कुमार संजय ने राज्य के सभी जिला अवर निबंधक एवं अवर निबंधक को निर्देश जारी किया है। इसमें सभी विवरण सीधे सीबीआइ के पुलिस अधीक्षक को भेजने को कहा गया है। सीबीआइ के पुलिस अधीक्षक ने पत्र में लिखा है कि रेलवे में नौकरी के बदले जमीन की जांच की जा रही है। इसके लिए वर्ष 2004 से 2009 के दौरान बिहार में लालू प्रसाद एवं उनके परिवार के सभी सदस्यों के नाम से खरीदी, गिफ्ट की गई या लीज पर दी गई अचल संपत्ति की जांच भी जरूरी है। यहां यह महत्वपूर्ण है कि सभी लोगों के एक से अधिक पते हैं। इस कारण उक्त अवधि में लालू प्रसाद की बेटियों के पति के नाम से भी कोई संपत्ति खरीदी, गिफ्ट की गई या लीज पर दी गई हो तो उसका ब्योरा उपलब्ध कराया जाए। बता दें कि इससे पहले प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने लालू समेत परिवार के आठ सदस्यों और करीबी भोला यादव एवं चार कंपनियों की कुल संपत्ति का ब्योरा मांगा था। इसके बाद अब सीबीआई ने इन लोगों से संपत्ति का ब्योरा देने को कहा है। इससे पहले मंगलवार को रेलवे में नौकरी  के बदले जमीन मामले में सीबीआई ने एक बार फिर लालू के करीरियों के घर दबिश दी थी। पटना, भोजपुर, आरा, दिल्ली, नोयडा और गुरुग्राम समेत 9 ठिकानों पर सुबह से ही सीबीआई ने छापेमारी की थी।

Share This Article
Leave a comment