झारखंड के पूर्व मंत्री व विधायक समरेश सिंह का निधन, लंबे समय से बीमार थे

Tech Desk
Tech Desk 4 Min Read

रांची। झारखंड के पूर्व मंत्री सह बोकारो के पूर्व विधायक समरेश सिंह (81 वर्ष) का गुरुवार को बोकारो स्थित आवास में निधन हो गया। सुबह करीब सात बजे उन्‍होंने सेक्‍टर चार स्थित अपने आवास में अंतिम सांस ली। झारखंड की राजनीति के दिग्‍गज सह झारखंड सरकार में मंत्री रहे समरेश सिंह को एक दिन पहले ही रांची स्थित मेदांता अस्‍पताल से बोकारो स्थित उनके घर लाया गया था।

मंगलवार को डॉक्टरों ने उनकी हालत में सुधार होता देख डिस्चार्ज कर दिया था, जिसके बाद वह घर पर ही थे। बोकारो जिले के ही चंदनकियारी प्रखंड, लालपुर पंचायत स्थित देवलटांड़ गांव में समरेश सिंह का पैतृक आवास है। संभावना जताई जा रही है कि अंतिम संस्‍कार की प्रक्रिया वहीं से पूरी होगी।

समरेश सिंह का राजनीतिक सफर

बोकारो के पूर्व विधायक समरेश सिंह भाजपा के संस्थापक सदस्यों में शामिल थे। लोग उन्हें दादा भी कहते हैं। मुंबई में 1980 में आयोजित भाजपा के प्रथम अधिवेशन में कमल निशान का चिह्न रखने का सुझाव उन्हीं का था, जिसे केंद्रीय नेताओं ने मंजूरी दी थी।

दरअसल, समरेश सिंह को 1977 के चुनाव में कमल निशान पर ही जीत मिली थी। बाद में समरेश भाजपा से 1985 और 1990 में बोकारो से विधायक निर्वाचित हुए। इससे पहले 1985 में समरेश सिंह ने में इंदर सिंह नामधारी के साथ मिलकर भाजपा में विद्रोह कर 13 विधायकों के साथ संपूर्ण क्रांति दल का गठन किया था, लेकिन कुछ ही दिनों के बाद संपूर्ण क्रांति दल का विलय भाजपा में कर दिया गया।

वर्ष 1995 में समरेश सिंह ने भाजपा से टिकट नहीं मिलने पर निर्दलीय चुनाव लड़ा, जिसमें उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। इसके बाद वर्ष 2000 का चुनाव उन्होंने झारखंड वनांचल कांग्रेस के टिकट पर लड़ा। फिर 2009 में झाविमो के टिकट पर विधायक बने। बाद में भाजपा में शामिल हो गये, लेकिन 2014 में भाजपा का टिकट नहीं मिलने पर वह निर्दलीय लड़े थे, जिसमें उन्हें हार मिली थी।

उल्लेखनीय है कि बोकारो जिला के ही चंदनकियारी प्रखंड के लालपुर पंचायत स्थित देवलटांड़ गांव में समरेश सिंह का पैतृक आवास है। समरेश सिंह का अंतिम संस्कार शुक्रवार सुबह नौ बजे उनके पैतृक गांव में किया जाएगा।

वहीं, उनके आवास पर लोगों का पहुंचना जारी हो गया है। पूर्व मंत्री समरेश सिंह की पत्नी भारती सिंह का देहांत 28 अगस्त 2017 को हो चुका था। परिजनों में समरेश सिंह के दोनों बेटे सिद्धार्थ सिंह और संग्राम सिंह तथा पुत्रवधु श्वेता सिंह और परिंदा सिंह हैं। उनके बड़े पुत्र राणा प्रताप भी अमेरिका से पहुंच चुके हैं।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने समरेश सिंह के निधन पर जताया शोक

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने पूर्व मंत्री समरेश सिंह के निधन पर शोक जताया है। ठाकुर ने गुरुवार को कहा कि उनके निधन की खबर से मर्माहत हूं। ईश्वर से प्रार्थना है कि उन्हें अपने श्री चरणों में स्थान दें एवं उनके समस्त परिजनों एवं शुभचिंतकों को इस दुख को सहन करने की शक्ति प्रदान करें।

Share This Article
Leave a comment