इटखोरी महोत्सव में गजल गायिका मृणालिनी अखौरी ने गीतों और गजलों से समां बांधा

Desk Editor
Desk Editor 1 Min Read

रांची : मां भद्रकाली की धरती पर आयोजित राजकीय इटखोरी महोत्सव के समापन समारोह में मंगलवार को डॉक्टर मृणालिनी अखौरी ने  गीत और गजलों का सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया। कार्यक्रम की शुरूआत में उन्होंने मां भद्रकाली को स्वरचित एक भजन समर्पित कर फिर गजलों की प्रस्तुति दी, जिसमें किसी नजर को तेरा इंतजार आज भी है, निकलो ना बेनकाब जमाना खराब है, चांदी जैसा रंग है तेरा सोने जैसे बाल और चिट्ठी आई है जैसी गजलें गा कर इटखोरी और चतरा की जनता का मन मोह लिया। समापन समारोह में भारी संख्या में दर्शक उपस्थित थे। कार्यक्रम में श्रम मंत्री सत्यानंद भोक्ता, चतरा विधायक, चतरा डीसी, डीडीसी चतरा एसडीओ और चतरा डीएसपी उपस्थित रहे।कार्यक्रम में डॉक्टर मृणालिनी अखौरी के साथ तबले पर संजीव कुमार पाठक, ऑर्गन पर दीपक कुमार वैद्य, गिटार पर समित दास और ऑक्टो पैड पर अतनु चटर्जी ने साथ दिया। कार्यक्रम के समापन पर डॉक्टर नलिनी अखौरी को मां भद्रकाली की प्रतिमा सहित मोमेंटो  और शॉल देकर चतरा डीसी और विधायक ने सम्मानित किया।

Share This Article
Leave a comment