मंत्रियों की संपत्ति पर गरमायी राजनीति

Desk Editor
Desk Editor 2 Min Read

पटना : नीतीश कैबिनेट के मंत्रियों की संपति का ब्योरा सार्वजनिक किये जाने के बाद बिहार में राजनीतिक सरगर्मी काफी तेज हो गई। भाजपा ने जहां इसे फर्जी आंकड़ा करार दिया है वहीं ,अब  राजद ने केंद्रीय मंत्रियों से उनकी संपति का ब्यौरा देने की मांग कर दी है।  दरअसल, उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव की कुल संपति छह करोड़ से कम  बताये जाने पर भाजपा द्वारा सवाल उठाये जाने के बाद राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने कहा कि बिहार के सभी मंत्रियों ने ईमानदारी पूर्वक अपना संपत्ति का ब्यौरा दे दिया है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार के किसी मंत्री ने अभी तक अपनी संपत्ति का ब्यौरा नहीं दिया है। जगदानंद सिंह ने सोमवार को कहा कि बिहार में मुख्यमंत्री ने मंत्रियों को संपत्ति का ब्यौरा देने की बात कही है। हर साल जितने भी मंत्रिमंडल के सदस्य होते हैं, वह अपनी संपत्ति का ब्यौरा देते हैं। लेकिन, ऐसी व्यवस्था केंद्र सरकार लागू नहीं कर रही है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जहां तक भाजपा के नेताओं की बात है तो भाजपा के नेता अगर बिहार सरकार के किसी मंत्री के संपत्ति के विवरण पर बयान देते हैं, तो उन्हें अच्छे से समझ लेना चाहिए कि जो संपत्ति का ब्यौरा मंत्रियों ने जारी किया है, उन्हें भाजपा के लोगों को कोई शक लग रहा है तो वह कोर्ट में क्यों नहीं जाते हैं? उनलोगों को कोर्ट जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि देश में एक परंपरा है, एक कानून है जिसके तहत सभी को विवरण देना होता है। बिहार के मंत्री यह काम कर रहे हैं, इससे बेहतर बात और क्या ही हो सकती है? जो व्यापारी देश की संपत्ति लूट कर भाग गए उनकी संपत्ति लाने का वादा कहां चला गया? भाजपा के लोगों के लिए बड़बोलापन अच्छा नहीं है। उल्लेखनीय है कि बिहार सरकार में मंत्रियों ने संपत्ति का ब्यौरा जारी किया है। इस सरकार के कई मंत्री करोड़पति हैं। वहीं, कई मंत्री अपने पास हथियार रखने के शौकीन हैं।

Share This Article
Leave a comment