पूर्व मंत्री सुधाकर सिंह के बयान पर जदयू और राजद में ठनी

Desk Editor
Desk Editor 3 Min Read

पटना : राजद विधायक और पूर्व मंत्री सुधाकर सिंह के बयान पर जदयू और राजद में ठन गई है। जदयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने सोमवार को उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को चेतावनी देते हुए कहा कि ऐसे बयानों पर जितनी जल्दी रोक लगे उतना अच्छा होगा। गठबंधन के लिए और शायद आपके लिए भी। दरअसल, सुधाकर सिंह लगातार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ एक के बाद एक विवादित बयान दे रहे हैं। पिछले दिनों सुधाकर सिंह ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को शिखंडी और नाइट गार्ड बता दिया था। जिसको लेकर महागठबंधन असहज है। ऐसे में अब यह सवाल उठने लगा है कि क्या पांच महीने पहले बने नीतीश-तेजस्वी के गठजोड़ की उलटी गिनती शुरू हो गयी है? उपेंद्र कुशवाहा ने आज सीधे तेजस्वी पर हमला बोलते हुए उन्हें लालू-राबड़ी दौर के जंगलराज की याद दिलाई। उन्होंने कहा कि नीतीश जैसे मर्द नेता ने ही बिहार को उस खौफनाक मंजर से मुक्ति दिलाई थी। कुशवाहा ने तेजस्वी यादव को अपने नेताओं पर काबू रखने की भी नसीहत देते हुए कहा है कि ये आपके लिए अच्छा नहीं होगा। उन्होंने राजद विधायक सुधाकर सिंह के बयान को शेयर करते हुए लिखा है कि तेजस्वी यादव जी, जरा गौर से देखिए-सुनिए अपने एक माननीय विधायक के बयान को और उन्हें बताईए कि राजनीति में भाषाई मर्यादा की बड़ी अहमियत होती है। वे उस शख्सियत को “शिखंडी” कह रहे हैं, जिन्होंने बिहार को उस खौफनाक मंजर से मुक्ति दिलाने की “मर्दानगी” दिखाई थी, वह भी तब जब उसके खिलाफ कुछ भी बोलने के पहले लोग दाएं-बाएं झांक लेते थे। कुशवाहा आगे लिखते हैं कि ऐसे बयानों से प्रदेश की लाखों-करोड़ों जनता और वर्तमान जदयू और तत्कालीन समता पार्टी के उन हजारों कार्यकर्ताओं की भावना को चोट पहुंचती है। जिन्होंने उस दौर में नीतीश कुमार का साथ-सहयोग दिया, कुर्बानी दी। सुधाकर सिंह को बताईए। उन्होंने तेजस्वी यादव से आगे कहा है कि अब आप ही बताइए, अबतक जनता के आशीर्वाद से राज्य में सबसे अधिक बार मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठने का रिकॉर्ड कायम करने वाले इतने बड़े नेता को कोई ‘नाईट गॉर्ड’ कहे, यह बिहार की समस्त जनता का अपमान नहीं तो और क्या है? ऐसे बयानों पर जितनी जल्दी रोक लगे उतना श्रेयस्कर होगा। गठबंधन के लिए और शायद आपके लिए भी।

Share This Article
Leave a comment