भाजपा की सरकार बनी तो झारखंडी होंगे खदान के मालिक : बाबूलाल मरांडी

Desk Editor
Desk Editor 3 Min Read

दयानंद राय

रांची :  भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने कहा है कि मेरे शासन काल में राज्य के युवाओं को अपने पैरों में खड़े होने के लिए उनके बीच बस तथा क्रशर मशीन बंटवायी गयी थी।राज्य में भाजपा की सरकार बनते ही यहां माफियाओं से खदान छीनकर युवाओं को दे दी जायेगी। वे शुक्रवार को दुमका जिले में भाजपा की ओर से आयोजित हेमंत हटाओ, झारखंड बचाओ जनाक्रोश सभा में बोल रहे थे।श्री मरांडी ने कहा कि जब-जब हेमंत किसी मामले में फंसते है, अपने आदिवासी होने की दुहाई देने लगते है और कहते है कि मुझे आदिवासी होने के कारण तंग किया जाता है। उन्हें बताना चाहिए कि आज तक उन्होंने कितने आदिवासियों की मदद की है। कितने आदिवासियों को खदान आवंटित किया है। वे मदद सिर्फ अपने परिवार और करीबी मित्रों की करते है।

जनता को कर रहे दिग्भ्रमित

श्री मरांडी ने कहा कि जब सदन चलता है और हमलोग बालू को लेकर सवाल करते है तथा बालू घाटों की नीलामी करने को कहते है तो राज्य के मुख्यमंत्री सदन को आश्वासन देते है कि बालू घाटों की नीलामी कर दी जाएगी। जब तक सदन चलता है तब तक पुलिस वाले बालू ट्रैक्टर को नहीं पकड़ते है और सदन समाप्त होते ही धर-पकड़ शुरू हो जाती है।श्री मरांडी ने कहा कि मेरे शासनकाल में राज्य के लोगों को घर बनाने के लिए बालू फ्री कर दिया गया था।राज्य सरकार को भी झारखंड के लोगों के लिए बालू फ्री कर देना चाहिए।राज्य के सभी बॉर्डर पर कड़ी चौकसी करनी चाहिए ताकि राज्य का बालू बाहर न जाए। उन्होंने कहा कि अगर सरकार के पास पुलिस की कमी है तो भाजपा के कार्यकर्ता उस जिम्मेदारी को निभाने को तैयार हैं। श्री मरांडी ने कार्यकर्ताओं को टिप्स देते हुए कहा कि आज के बाद यदि पुलिस आपकी बालू की गाड़ी को पकड़ेगी तो बालू खरीदने के लिए थाना पहुंच जाना।

जनता की उम्मीद पूरा नहीं कर पाए

उन्होंने कहा कि जिस उम्मीद और आशा के साथ राज्य की जनता ने हेमंत सोरेन को सत्ता सौपी थी, उसे हेमन्त पूरा नहीं कर सके। बीते तीन वर्षों से विकास का कोई भी काम राज्य में नहीं हो रहा है। यहां सिर्फ लूट मची हुई है। राज्य में कानून-व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो चुकी है। राज्य में बालू, कोयला ,लोहा, पत्थर सहित अन्य खनिजों का अवैध खनन हो रहा है और उसे दूसरे राज्यों में भेजा जा रहा है।पुलिस पैसे की वसूली में लगी हुई है। लेकिन सरकार को इसकी चिंता नहीं है।

Share This Article
Leave a comment