खान सर फिर फंसे विवाद में

Desk Editor
Desk Editor 3 Min Read

पटना। पटना में  कोचिंग इंस्टीट्यूट चला रहे और विद्यार्थियों को अलग अंदाज में पढ़ाने को लेकर मशहूर खान सर एक बार फिर चर्चा में आ गये हैं। कांग्रेस की सोशल मीडिया और डिजिटल प्लेटफॉर्म की प्रमुख सुप्रिया श्रीनेत ने सोमवार को उनके एक वीडियो को आपत्तिजनक बताते हुए उन्हे गिरफ्तार करने की मांग की है। सुप्रिया श्रीनेत ने ट्वीट कर एक पोस्ट शेयर किया जहां खान सर उदाहरण दे रहे थे कि कैसे एक वाक्य का अर्थ बदल जाता है जब ‘सुरेश’ नाम की जगह ‘अब्दुल’ हो जाता है। लेखक अशोक कुमार पांडेय ने भी उनकी इन वीडियो पर एतराज जताते हुए नफरत फैलाने का आरोप लगाया है। दरअसल, इस वीडियो में खान सर अपने छात्रों को द्वंद्व समास समझाने की कोशिश करते नजर आ रहे हैं। खान सर कह रहे हैं कि द्वंद्व समाज में एक ही शब्द के मायने बदल जाते हैं।खान सर यूपी के गोरखपुर में एक सैनिक परिवार में जन्में हैं और उनके असली खान नाम को लेकर भी मतभेद रहा है। कोई उनका असली नाम फैजल खान तो कोई अमित सिंह बता रहा था। हालांकि, उनका असली नाम फैजल खान ही है। 1993 में गोरखपुर में जन्‍मे खान सर के पिता नौसेना में अधिकारी थे। बड़े भाई भी सेना में थे और वो खुद भी वहीं जाना चाहते थे, लेकिन जा नहीं सके। बचपन से ही खान सर की अध्ययन में रुचि रही है और इन्होंने इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से एमएससी तक की पढ़ाई की है। पटना आने पर सबसे पहले उन्होंने कोचिंग इंस्टिट्यूट खोला था, जो नहीं चल सका। लेकिन इसके बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी और यू ट्यूब पर खान जीएस रिसर्च सेंटर नाम से एक चैनल खोल लिया। कोरोना काल में भारत के लोगों ने सबसे ज्यादा इंटरनेट का उपयोग किया था और उस दौरान उन्होंने खान सर की अलग अंदाज वाली वीडियो देखी। इसके बाद खान सर हिट होते चले गए। यू ट्यूब चैनल पर खान सर के करीब 2 करोड़ फॉलोवर्स हैं। वे बड़ी ही सरलता और गहन रूचि के साथ करेंट अफेयर्स और जीएस के टॉपिक्स समझाते हैं जिसे लोग काफी पसंद भी करते हैं।

Share This Article
Leave a comment