लालू यादव को झूठे केस में फंसाया जा रहा है: रोहिणी आचार्य

Desk Editor
Desk Editor 3 Min Read

पटना : राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव की बेटी रोहिणी आचार्य ने एक बार फिर सोशल मीडिया पर कई सारे ट्वीट किए हैं। पिता को लेकर इमोशनल हो रहीं रोहिणी ने रविवार को ट्वीट में लालू यादव पर घोटाले में आरोपों को लेकर शुरू हुई जांच पर कई बातें कहीं हैं। साथ ही लालू यादव की एक तस्वीर भी डाली है। रोहिणी ने दावा किया है कि उनके पिता और राजद प्रमुख को झूठे केस में फंसाया जा रहा है। बता दें कि सिंगापुर में किडनी ट्रांसप्लांट के बाद स्वास्थ्य लाभ कर रहे लालू यादव के खिलाफ हाल में रेलवे से जुड़े भ्रष्टाचार के एक मामले में सीबीआई जांच की मंजूरी मिली है। रोहिणी ने अपने ट्विट में लिखा है कि पिता लालू को झूठे केस के मुकदमे में फंसाने का सिलसिला शुरू हो गया है। घोटाले के जनक बरी हो गए हैं। जिन्होंने घोटाले को उजागर किया वो मुजरिम हो गए हैं। अपने अगले ट्विट में रोहिणी ने लिखा है, ‘लालू जी का क्या कसूर था। यही न गरीबों के हक की लड़ाई लड़ना वर्षों से जो दबे, कुचले, वंचित थे उनको सम्मान से जीने की प्रेरणा देना, अपना हक और अधिकार की आवाज बुलंद करना बस यहीं तो किए थे लालू जी ने। मगर मनुवादियों को गरीब, वंचित, शोषित, समाज को अधिकार देना नागवार गुजरा फिर लालू जी को झूठे केस मुकदमे में फंसाने का सिलसिला शुरू हो गया और जो घोटाले के जनक थे वो बरी हो गएं और जिन्होंने घोटाले को उजागर किया वहीं मुजरिम हो गएं’। उन्होंने लालू यादव के अस्पताल के बिस्तर पर लेटी हुई तस्वीर के साथ उनके लिए अपनी भावनाएं प्रकट की है। उल्लेखनीय है कि लालू यादव के रेल मंत्री रहते आईआरसीटीसी में फर्जीवाड़े का आरोप लगा था। इस मामले की जांच वर्ष 2018 में शुरू हुई। हालांकि तीन साल चली जांच के बाद 2021 में इस मामले को बंद कर दिया गया। वहीं पिछले महीने ही इस मामले की जांच की प्रक्रिया एक बार फिर से शुरू हुई। अब सीबीआई फिर से इस मामले से जुडी परतों को खोलने के लिए तैयार है। लालू यादव पर आरोप है कि उन्होंने नौकरी के बदले जमीन सहित कई अन्य प्रकार से आईआरसीटीसी से जुड़े मामलों में फर्जीवाड़ा किया।

Share This Article
Leave a comment