शराब बिहार में भगवान की तरह, जो दिखती कहीं नहीं पर मिलती हर जगह है : रामबली सिंह चंद्रवंशी

Desk Editor
Desk Editor 2 Min Read

पटना। बिहार में शराबबंदी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की महत्वाकांक्षी योजना है। राज्य में  पूर्ण शराबबंदी लागू हुये छह साल पूरे होने वाले हैं। इसे लेकर आए दिन बिहार की सियासत गरमाई हुई रहती है। सत्ता से बेदखल होकर विपक्ष में गयी भाजपा जहां शराबबंदी के मुद्दे पर नीतीश सरकार पर हमलावर है, वहीं विपक्ष से सत्ता में आई राजद इसको लेकर ऊहापोह की स्थिति में है। इसी कड़ी में सत्तारुढ़ महागठबंधन के प्रमुख घटक राजद के विधान पार्षद रामबली सिंह चंद्रवंशी ने शराबबंदी की पोल खोलकर रख दी है। उन्होंने कहा  है कि शराब बिहार में भगवान की तरह है, जो दिखता कहीं नहीं है, लेकिन मिलती हर जगह है। श्री चंद्रवंशी ने कहा कि बिहार में शराबबंदी सिर्फ नीतीश कुमार के चाहने से नहीं लागू हुई, बल्कि यह एक सर्वदलीय फैसला था। जब सभी दलों की सहमति से कानून लागू किया गया था तो अब इस कानून को अकेले कोई दल वापस नहीं ले सकता है। सभी दल मिलकर कहें कि शराब चालू हो, तो शराब चालू हो जायेगी। विधान पार्षद ने कहा कि शराब के अलावा अन्य कारणों से भी लोग मरते हैं। लेकिन शराब से मौत चुनाव का मुद्दा नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि किसी भी चुनाव का मुद्दा शराबबंदी खत्म करना नहीं हो सकता है। कुढ़नी का चुनाव बेरोजगारी और महंगाई जैसे मुद्दों पर लड़ा जा रहा है, जिसमें महागठबंधन की जीत सुनिश्चित है। वायरल वीडियो पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि महागठबंधन के प्रत्याशी भारी बहुमत से चुनाव जीत रहे है, जिससे भाजपा में बौखलाहट है। राजनीति में यह आम बात है, इसको तवज्जो देने की जरूरत नहीं है।

Share This Article
Leave a comment