मरगूब अहमद से फिर पूछताछ करेगी एनआइए

Desk Editor
Desk Editor 2 Min Read

Contents
महेश कुमार सिन्हापटना। देश विरोधी गतिविधियों के आरोप में पटना के बेऊर जेल में बंद गजवा-ए-हिंद के सदस्य मरगूब अहमद उर्फ ताहिर से एनआईए की टीम एक बार फिर से पूछताछ करेगी। कोर्ट ने मरगूब अहमद उर्फ ताहिर को रिमांड की मंजूरी दे दी है। उससे अगले पांच दिनों तक एनआईए की टीम पूछताछ करेगी। एनआईए ने पूछताछ के लिए एक आवेदन दिया था, जिसके बाद विशेष न्यायाधीश गुरविंदर सिंह मल्होत्रा ने अनुमति दे दी है। एनआईए को उम्मीद है कि अगले पांच दिनों में ताहिर पूछताछ के दौरान कई राज उगल सकता है। मामले से जुड़ी जो ताजा जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक ताहिर पाकिस्तान के कट्टरपंथी संगठन तहरीक-ए-हिंद से जुड़ा है। पाकिस्तान के फैजान नाम के शख्स से भी उसका संपर्क है। जब ताहिर का फोन खंगाला गया था तो उसमें वह एक ग्रुप में ऐड था, जिसका टाइटल गजवा-ए-हिंद था। उस ग्रुप का एडमिन कोई और नहीं बल्कि खुद ताहिर ही था। 2016 में ही ताहिर पाकिस्तान के लोगों के संपर्क में आया था। बिहार एटीएस ने 14 जुलाई को मोहम्मद दानिश साहिल को भारत विरोधी गतिविधियों में संलिप्तता होने के आरोप में गिरफ्तार किया था। इसका संबंध कहीं ना कहीं पाकिस्तान के गजवा-ए-हिंद से जुड़ा बताया गया, जिसकी जांच अब एनआईए कर रही है। जांच एजेंसी एनआईए के अनुसार गजवा- ए- हिंद व्हाट्सएप ग्रुप से देश विरोधी भड़काऊ, आपत्तिजनक और गैरकानूनी सामग्री मिली है। इस व्हाट्सएप ग्रुप में बांग्लादेश और पाकिस्तान समेत कई देशों के लोगों के नंबर जुड़े हैं। इस व्हाट्सएप ग्रुप में केवल भारत और पाकिस्तान के लोग ही नहीं बल्कि बांग्लादेश के भी लोग जुड़े हैं।

महेश कुमार सिन्हा

पटना। देश विरोधी गतिविधियों के आरोप में पटना के बेऊर जेल में बंद गजवा-ए-हिंद के सदस्य मरगूब अहमद उर्फ ताहिर से एनआईए की टीम एक बार फिर से पूछताछ करेगी। कोर्ट ने मरगूब अहमद उर्फ ताहिर को रिमांड की मंजूरी दे दी है। उससे अगले पांच दिनों तक एनआईए की टीम पूछताछ करेगी। एनआईए ने पूछताछ के लिए एक आवेदन दिया था, जिसके बाद विशेष न्यायाधीश गुरविंदर सिंह मल्होत्रा ने अनुमति दे दी है। एनआईए को उम्मीद है कि अगले पांच दिनों में ताहिर पूछताछ के दौरान कई राज उगल सकता है। मामले से जुड़ी जो ताजा जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक ताहिर पाकिस्तान के कट्टरपंथी संगठन तहरीक-ए-हिंद से जुड़ा है। पाकिस्तान के फैजान नाम के शख्स से भी उसका संपर्क है। जब ताहिर का फोन खंगाला गया था तो उसमें वह एक ग्रुप में ऐड था, जिसका टाइटल गजवा-ए-हिंद था। उस ग्रुप का एडमिन कोई और नहीं बल्कि खुद ताहिर ही था। 2016 में ही ताहिर पाकिस्तान के लोगों के संपर्क में आया था। बिहार एटीएस ने 14 जुलाई को मोहम्मद दानिश साहिल को भारत विरोधी गतिविधियों में संलिप्तता होने के आरोप में गिरफ्तार किया था। इसका संबंध कहीं ना कहीं पाकिस्तान के गजवा-ए-हिंद से जुड़ा बताया गया, जिसकी जांच अब एनआईए कर रही है। जांच एजेंसी एनआईए के अनुसार गजवा- ए- हिंद व्हाट्सएप ग्रुप से देश विरोधी भड़काऊ, आपत्तिजनक और गैरकानूनी सामग्री मिली है। इस व्हाट्सएप ग्रुप में बांग्लादेश और पाकिस्तान समेत कई देशों के लोगों के नंबर जुड़े हैं। इस व्हाट्सएप ग्रुप में केवल भारत और पाकिस्तान के लोग ही नहीं बल्कि बांग्लादेश के भी लोग जुड़े हैं।

लेखक : न्यूजवाणी के बिहार के प्रधान संपादक हैं और यूएनआई के ब्यूरो चीफ रह चुके हैं

Share This Article
Leave a comment