नयी नियुक्ति वाले शिक्षक ही राज्यकर्मी होंगे : नीतीश कुमार

Desk Editor
Desk Editor 2 Min Read

पटना : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यह साफ कर दिया है कि सरकारी स्कूलों में पहले से काम कर रहे चार लाख से ज्यादा नियोजित शिक्षकों को राज्यकर्मी का दर्जा और वेतन-भत्ता नहीं मिलेगा। राज्यकर्मी सिर्फ वैसे शिक्षक होंगे जो नई बहाली के जरिये आयेंगे। वैसे पुराने शिक्षक अपनी जगह पर बने रहेंगे। वे पंचायती राज और नगर निकाय के ही कर्मचारी रहेंगे और राज्य सरकार उन्हें पैसा देती रहेगी। उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार ने इसी सप्ताह बिहार में शिक्षकों की नियुक्ति के लिए नई नियमावली बनाई है। इसके मुताबिक अब एक आयोग के जरिये बिहार में शिक्षकों की बहाली होगी। नव नियुक्त शिक्षक राज्यकर्मी होंगे और उन्हें उसी मुताबिक वेतन-भत्ता और सुविधायें मिलेंगी। कैबिनेट से नयी नियमावली पास होने के बाद शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर ने कहा था कि पहले से नियुक्त शिक्षकों को भी राज्यकर्मी बनने का मौका मिलेगा। वे भी बीपीएससी की परीक्षा पास कर राज्यकर्मी बन पायेंगे। हालांकि कैबिनेट से पास नई शिक्षक नियुक्ति नियमावली में नियोजित शिक्षकों को लेकर कोई स्पष्ट प्रावधान नहीं किया गया है। उसमें कहा गया है कि राज्य सरकार नियोजित शिक्षकों की नियुक्ति को लेकर प्रक्रिया का निर्धारण करेगी। नई नियमावली को लेकर पहले से ही नियोजित शिक्षकों में नाराजगी थी। आज नीतीश कुमार ने उसे स्पष्ट कर दिया। नीतीश कुमार ने स्पष्ट किया कि नई नियुक्ति वाले शिक्षक ही राज्यकर्मी होंगे और उन्हें ही वेतन, भत्ता, के साथ साथ ट्रांसफर की सुविधा मिलेगी। अपनी पार्टी जदयू के एक कार्यक्रम में नीतीश कुमार ने शुक्रवार को कहा कि “अब हमने तय कर दिया है,  सात पार्टी की सरकार है। हम सब लोगों ने तय कर दिया है कि आगे जो बहाली होगी उसे सरकारी बहाली कर देंगे। दो लाख से भी ज्यादा बहाली होने वाली है। इसी साल सब करने वाले हैं।

Share This Article
Leave a comment