विपक्षी एकता को लेकर अब नवीन पटनायक से मिलेंगे नीतीश कुमार

Desk Editor
Desk Editor 3 Min Read

पटना : लोकसभा चुनाव में विपक्ष को एकजुट करने जुटे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अब ओडिशा के  मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से मुलाकात करने की तैयारी में हैं। नीतीश कुमार के पांच मई को ओडिशा जाने की चर्चा है। हालांकि ,तारीख को लेकर न तो मुख्यमंत्री सचिवालय और न ही पार्टी की ओर से  पुष्टि की गयी है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नीतीश कुमार ने फोन पर नवीन पटनायक से बातचीत की है।  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पांच मई को ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से मुलाकात करने के बाद झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से भी मुलाकात कर सकते हैं। इससे पहले नीतीश कुमार ने कोलकाता जा कर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और उसके बाद लखनऊ जा कर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मुलाकात की थी। उससे पहले दिल्ली में उन्होंने तीन दलों के नेताओं से मुलाकात की थी। जिसमें कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, कांग्रेस नेता राहुल गांधी, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और फिर वाम दलों के नेता सीताराम येचुरी और डी. राजा से मुलाकात की थी। अब वह ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक को अपने पाले में लाने का प्रयास करेंगे। हालांकि नवीन पटनायक की बात करें तो वह लंबे समय से प्रदेश की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। उनकी पार्टी बीजद कई दशकों से वहां सत्ता में हैं, साथ ही प्रदेश की राजनीति में नवीन पटनायक की गहरी पैठ है। 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने बीजद के किले में गहरी सेंधमारी की थी। लेकिन इसके बाद भी भाजपा और बीजद के बीच कभी भी सत्ता को लेकर लड़ाई देखने को नहीं मिली। ऐसे में नीतीश कुमार के लिए ओडिशा के मुख्यमंत्री को अपने पक्ष में करना अन्य राज्यों की तुलना में थोड़ा मुश्किल प्रतीत होता है। जहां बाकी पार्टियां प्रधानमंत्री के विरोध में नजर आते हैं, वहीं नवीन पटनायक के प्रधानमंत्री मोदी से रिश्ते भी काफी बेहतर रहे हैं। इसके अलावा एक बड़ा फैक्टर राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू भी हो सकती हैं। राष्ट्रपति मूल रूप से ओडिशा की हैं। पिछले साल जब उन्हें राष्ट्रपति घोषित किया गया तो नवीन पटनायक ने प्रधानमंत्री की जमकर तारीफ की थी। विपक्षी एकता की पहल में जुटे नीतीश कुमार कोई मौका गंवाना नही चाहते हैं और वह  भाजपा को घेरने की रणनीति बनाने में जुटे हैं। इसी कडी में जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने रांची में झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से मुलाकात की थी और कई मुद्दों पर चर्चा की। वैसे जहां-जहां नीतीश कुमर जा रहे हैं, ललन सिंह भी उनके साथ रहते हैं। फिर चाहे नीतीश का दिल्ली दौरा रहा हो, या फिर बंगाल और यूपी का । नीतीश कुमार के साथ इस अभियान में उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव भी शामिल रहते  हैं।

Share This Article
Leave a comment