जीविका दीदियों के सहारे चल रही है नीतीश की समाधान यात्रा

Desk Editor
Desk Editor 3 Min Read

पटना : बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की  समाधान यात्रा ’जीविका दीदियों के सहारे चल रही है। मुख्यमंत्री अपनी यात्रा के क्रम में भले ही फीडबैक लेने की बात कह रहे हों, लेकिन वह आम लोगों से दूरी बनाए हुए हैं। स्थिति यह है कि गड़बड़ी की आशंका को देखते हुए जिला प्रशासन की ओर से सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जाते हैं। यही नहीं मुख्यमंत्री के दौरे से पूर्व जिला प्रशासन और पटना की स्पेशल टीम द्वारा मॉक ड्रिल कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया जाता है। इसके बाद ही मुख्यमंत्री का काफिला आगे बढ़ता है। यात्रा के दौरान सुरक्षा में कोई चूक ना रह जाए ऐसी व्यवस्था की जाती है। यात्रा के दौरान जिलों में अलग-अलग स्थानों पर ड्रॉप गेट बना दिए जाते हैं, जहां पुलिस के जवानों की तैनाती की जाती है। यात्रा के दौरान कोई भी व्यक्ति वहां नही फटके इसकी पूरी तैयारी की जाती है। जिला प्रशासन के द्वारा चिन्हित कुछ जगहों पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जाते हैं। इस दौरान वहां कोई अपनी शिकायत नहीं करे इसकी चेतावनी पहले ही दे दी जाती है। कार्यक्रम के बाद शाम में जीविका दीदियों का समूह सरकार की तारीफ में कसीदे गढ़ती हैं। जीविका दीदियों की समूह में  से  गिनिचुनी पांच-सात दीदियां सरकार के कार्यों की तारीफ में गुणगान करती हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार उनकी बातों को सुन-सुनकर मंद-मंद मुस्काते हुए अधिकारियों को दिशा-निर्देश देते हैं। अब तो मुख्यमंत्री ने जीविका दीदियों को स्कूलों की जांच-पड़ताल का भी जिम्मा सौंप दिया है। नीतीश कुमार ने अपनी यात्रा के चौथे दिन रविवार को सिवान में  सरकारी काम-काज का जायजा लिया। इस बीच विधान परिषद में प्रतिपक्ष नेता सम्राट चौधरी ने सवाल उठाते हुए पूछा है कि ये कैसी समाधान यात्रा है, जहां मुख्यमंत्री की यात्रा स्थल पर एक भी स्थानीय जनता और जनप्रतिनिधि नहीं हैं। इससे साबित होता है कि नीतीश की सरकार को जनता ने अब सि‍रे से नकार दिया है। मुख्यमंत्री की सभा हो या रैली जदयू के नेता और सरकार के अधिकारी जीविका दीदियों और आशा कार्यकर्ताओं को आगे बिठाकर भीड़ इकट्ठा कर रहे हैं। एक ओर ठंड को देखते हुए स्कूल को बंद करने का फैसला लिया गया है तो दूसरी तरफ मुख्यमंत्री की यात्रा में बच्चों और शिक्षकों को  परेशान किया जा रहा है।

Share This Article
Leave a comment