सुप्रीम कोर्ट के लिए कोई केस छोटा नहीं, हम यहां व्यक्तिगत स्वतंत्रता की रक्षा के लिए बैठे हैं : डीवाई चंद्रचूड़

Desk Editor
Desk Editor 1 Min Read

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि उसके लिए कोई मामला छोटा नहीं है। सीजेआई जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ ने कहा कि अगर हम नागरिकों की व्यक्तिगत स्वतंत्रता की रक्षा नहीं कर सकते तो हम यहां किसलिए बैठे हैं। बिजली चोरी के दोषी की 18 साल की सजा को बदलते हुए उन्होंने सात साल की सजा काट चुके व्यक्ति की रिहाई का आदेश दिया। सीजेआई चंद्रचूड़ ने कहा कि ये मामला बिल्कुल चौंकानेवाला है। अपीलकर्ता पहले ही सात साल की सजा काट चुका है।इलाहाबाद हाईकोर्ट की ओर से यह आदेश देने से इंकार करने के बाद अपीलकर्ता से सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया और कहा कि उसकी सजा एक साथ चलनी चाहिए। पीठ ने कहा कि यदि हम व्यक्तिगत स्वतंत्रता के मामलों में हस्तक्षेप नहीं करते तो हम यहां किसलिए हैं।

Share This Article
Leave a comment