झारखंड के मरीजों को 12 मई को मिलेगा नये कैंसर अस्पताल का तोहफा, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन करेंगे शुभारंभ

Desk Editor
Desk Editor 3 Min Read

रांची : झारखंड के कैंसर के मरीजों के लिए खुशखबरी है। उन्हें अब कैंसर के इलाज के लिए दिल्ली-मुंबई जैसे महानगरों का रूख करने की जरूरत नहीं होगी। कांके के कदमा में बने टाटा के कैंसर अस्पताल में ही उनका बेहतरीन इलाज हो जायेगा। 400 करोड़ की लागत से बने इस अस्पताल का शुभारंभ शुक्रवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन करेंगे। वर्तमान में झारखंड के कैंसर रोगियों का इलाज रिम्स में होता है लेकिन समुचित फैकल्टी के अभाव में सारी सुविधाएं नहीं मिल पाती है।
2018 में हुआ था शिलान्यास
कांके में रिनपास की जमीन पर कैंसर अस्पताल के निर्माण कार्य का शिलान्यास वर्ष 2018 में रघुवर सरकार के कार्यकाल में हुआ थ। एक साल पहले यह अस्पताल बनकर तैयार हो चुका है। यहां फिलहाल ओपीडी चलायी जा रही है। अस्पताल में मरीजों से रजिस्ट्रेशन चार्ज के नाम पर 135 रुपये लिए जा रहे हैं। अस्पताल में फिलहाल 82 बेड हैं जिनमें से 50 फीसदी यानि 41 बेड स्थानीय लोगों के लिए आरक्षित हैं। अस्पताल में 14 ऑपरेशन थिएटर और 28 बेड का आइसीयू भी होगा। इसके अलावा यहां आवासीय परिसर भी बनाया जायेगा। अस्पताल का निर्माण टाटा ट्रस्ट ने किया है। इस अस्पताल की खासियत ये है कि इसमें इलाज के साथ कैंसर पर रिसर्च भी होगा। अस्पताल को मुंबई के टाटा मेमोरियल सेंटर के समान विकसित किया जाना है।
रतन टाटा और रघुवर दास ने रखी थी आधारशिला
कैंसर अस्पताल की आधारशिला वर्ष 2018 में टाटा संस के मानद चेयरमैन रतन टाटा और तत्कालीन मुख्यमंत्री और वर्तमान में भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवर दास ने रखी थी। इस मौके पर रतन टाटा ने कहा था कि कैंसर के कारण हर साल लाखों लोग मरते हैं। इसका इलाज इतना महंगा है कि लोग इस रोग से लड़ने की हिम्मत ही खो बैठते हैं। मैं झारखंड सरकार की सराहना करता हूं। यह अस्पताल कई लोगों की जान बचाने में अहम भूमिका निभायेगा। वहीं, रघुवर दास ने कहा था कि मैं झारखंड के लोगों की ओर से रतन टाटा और समूह को धन्यवाद देता हूं। टाटा देश का एकमात्र ऐसा घराना है जो अपने कुल लाभ का 80 फीसदी जनकल्याण पर खर्च करता है।

Share This Article
Leave a comment