बिहार के नये डीजीपी बने राजविंदर सिंह भट्टी

Desk Editor
Desk Editor 3 Min Read

पटना: भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के 1990 बैच के अधिकारी राजविंदर सिंह भट्टी बिहार के नये डीजीपी बनाये गये हैं। इस संबंध में राज्य सरकार के गृह विभाग ने अधिसूचना जारी कर दी है। आरएस भट्टी कड़क आईपीएस अधिकारी के तौर पर चर्चित रहे हैं। वह सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) पूर्वी कमान के एडीजी के पद पर तैनात थे। मौजूदा डीजीपी एसके सिंघल का कार्यकाल 19 दिसंबर को पूरा हो रहा है। बिहार में डीजीपी की रेस में  कई नाम चल रहे थे। जिसमें 1989 बैच के आईपीएस और डीजी प्रशिक्षण आलोक राज, 1990 बैच के आईपीएस एवं केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर गए आरएस भट्टी और 1990 बैच की आईपीएस और डीजी अग्निमशन एवं होमगार्ड सेवाएं शोभा ओहटकर और पंजाब के मूल निवासी और बिहार कैडर के 1988 बैच के आईपीएस मनमोहन सिंह का नाम चल रहा था। आखिर में नीतीश सरकार ने  आरएस भट्टी के नाम पर मुहर लगा दी। आरएस भट्टी मूल रूप से पंजाब के रहने वाले हैं। कैडर बिहार होने की वजह से उन्होंने बिहार में कार्य के दौरान कई बड़े बाहुबलियों को धूल चटाई। वे कानून-व्यवस्था को बेहतर बनाने और बड़े-बड़े रंगबाज, अपराधियों तथा बाहुबली नेताओं के खिलाफ कार्रवाई करने में जरा भी हिचकिचाते नहीं हैं। आरएस भट्टी ने शहाबुद्दीन, प्रभुनाथ सिंह और दिलीप कुमार सिंह जैसे बाहुबलियों की गिरफ्तारी में मुख्य भूमिका निभायी है। भट्टी उस समय एसएसपी सह डीआईजी पद पर कार्यरत थे। वह केंद्रीय प्रतिनियुक्ति के तहत दो बार सीबीआई में अपनी सेवा दे चुके हैं। इस दौरान उन्होंने कई महत्वपूर्ण बड़े मामलों को सुलझाने में अपना योगदान दिया था। एक वक्त जब बिहार में लालू यादव की सरकार थी और उनके सबसे खासमखास मोहम्मद शहाबुद्दीन के खिलाफ कार्रवाई करने भी भट्टी किसी के आगे नहीं झुके थे। 2005 में हुए विधानसभा चुनाव के वक्त विशेष तौर पर उन्हें केंद्रीय प्रतिनियुक्ति से वापस बिहार वापस लाया गया था। कहा जाता है कि उस वक्त राजनीतिक दबाव की वजह से उनका दिल्ली तबादला करवा दिया गया था, लेकिन वे कभी भी बाहुबली नेता या राजनीतिक दबाव के आगे नहीं झुके।

Share This Article
Leave a comment