राजद ने जदयू को चेताया,कुछ नेता गठबंधन धर्म का पालन नहीं कर रहे

Desk Editor
Desk Editor 2 Min Read

पटना : रामचरितमानस पर शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर के विवादित बयान को लेकर भाजपा के साथ-साथ सरकार की सहयोगी जदयू भी लगातार राजद और शिक्षा मंत्री पर हमलावर हो गई है। जदयू नेताओं के लगातार आ रहे बयानों से राजद में भारी बौखलाहट है। इस बीच राजद ने करारा पलटवार किया है। राजद प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने जदयू को चेतावनी दे दी है। उन्होंने रविवार को कहा  कि जदयू के कई नेता महागठबंधन धर्म का पालन नहीं कर रहे हैं। ये लोग भाजपा के एजेंडा को आगे बढ़ा रहे हैं। तिवारी ने कहा कि हम लोग महागठबंधन में सबसे बड़े दल हैं। बड़ा दिल दिखाए हुए हैं। जनता के हित के लिए सात दलों का महागठबंधन बना है। जबकि जदयू के लोग भाजपा के एजेंडा को आगे बढ़ा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जदयू हमारी सहयोगी पार्टी है, लेकिन भाजपा के झांसे में आ गई है। अलग होकर भी जदयू भाजपा के रास्ते पर है। तिवारी ने कहा कि रामचरितमानस पर भाजपा के साथ जदयू का सुर मिल रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा की चाल में हमारे कुछ सहयोगी दल के नेता फंस रहे हैं, जो बाधा उत्पन्न करेंगे वह महागठबंधन से बाहर हो जाएंगे। जदयू के शीर्ष नेतृत्व अपने नेताओं पर ध्यान दें। उन्होंने कहा कि भाजपा का साथ कुछ सहयोगी दे रहे हैं। शिक्षा मंत्री माफी नहीं मांगेंगे और न ही अपना बयान वापस लेंगे। राजद प्रवक्ता ने कहा कि भाजपा जानबूझकर ऐसे मुद्दों को हवा दे रही है, जिससे जनता का ध्यान मुख्य मुद्दे से भटक जाए। उल्लेखनीय है कि शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर ने रामचरितमानस को नफरत फैलाने, समाज को बांटने वाला ग्रंथ बताया था। जिसके बाद से बवाल मचा हुआ है। शिक्षा मंत्री के बयान के बाद से जदयू लगातार राजद और शिक्षा मंत्री पर हमलावर है। मंत्री अशोक चौधरी, उपेंद्र कुशवाहा, नीरज कुमार के बाद संजीव सिंह ने भी हमला बोला। वहीं जदयू के कई नेता शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर के खिलाफ कार्रवाई की बात भी कह रहे हैं।

Share This Article
Leave a comment