बिहार मे अब कानून का नही लुटेरों का राज रह गया है : संजय जायसवाल

Desk Editor
Desk Editor 2 Min Read

पटना। बिहार में बढ़ी लूट की घटनाओं के लिए नीतीश सरकार की अक्षमता को जिम्मेदार बताते हुए भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने कहा कि समस्तीपुर में ज्वेलरी दुकान और सिनेमा हॉल मालिक से हुई एक करोड़ रुपये से अधिक की लूट की आंच ठंडी भी नहीं हुई थी कि बुधवार को बेतिया में लुटेरों ने दिनदहाड़े एसबीआई से 12 लाख रुपये लूट लिए। यह दिखाता है कि बिहार में अब कानून का नहीं, बल्कि लुटेरों का राज चल रहा है, जिनके आतंक के सामने नीतीश सरकार नतमस्तक हो चुकी है।उन्होंने कहा कि सरकार के रवैये ऐसा लगता है जैसे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मान लिया है कि अब उन्हें दिल्ली जाना है, इसलिए बिहार की जनता से उन्हें कोई मतलब नहीं रह गया। जिस तरह जंगलराज-1 अपहरण और रंगदारी उद्योग के लिए कुख्यात था उसी तरह राजद-जदयू में जंगलराज-2 अब लूट और हत्या उद्योग बन चुका है। ऐसा कोई दिन नहीं बीतता जब अखबारों के पन्ने लुटेरों और हत्यारों के कारनामों से रंगे हुए नहीं रहते हो। अपराधी भयमुक्त हो अपना काम कर रहे होते हैं और सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी रहती है। डॉ जायसवाल ने कहा कि राज्य भर में बढ़ती लूट की घटनाओं से ऐसा प्रतीत होता है कि सरकार ने लुटेरों को खुली छूट दे दी है। इनका मनोबल इतना बढ़ चुका है कि चंद रुपयों के लिए यह गोली मारने से भी बाज नहीं आते। दूसरी तरफ सरकार का ध्यान सिर्फ शराब पीने वाले गरीबों को पकड़ने में लगा रहता है। यह बताता है कि सरकार के लिए सुशासन और भयमुक्त वातावरण का निर्माण करना अब कोई मुद्दा नहीं है।सीएम नीतीश कुमार का तथाकथित जनताराज अब लुटेरों का राज बन गया है। अपराधी मस्त हैं और जनता त्रस्त है और सरकार का मनोबल पूरी तरह पस्त है।

Share This Article
Leave a comment