पटना में स्टेशन के पास वाले मस्जिद के बाहर अतीक अहमद के समर्थन में लगे नारे

Desk Editor
Desk Editor 4 Min Read

पटना : जंक्शन के पास जामा मस्जिद में शुक्रवार को नमाज के बाद प्रयाग राज में  मारा गया गैंग्स्टर अतीक अहमद के समर्थन में नारे लगाए गए। ईद से पहले रमजान के आखिरी जुमा के दौरान अलविदा की नमाज पढ़ने के बाद मुस्लिम समुदाय के लोगों ने केंद्र की मोदी सरकार और उत्तर प्रदेश के योगी सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए अतीक अहमद “अमर रहे”और शहीद अतीक अहमद अमर रहे के नारे लगाए। पटना जंक्शन के पास मस्जिद में जुमे की नमाज अता करने के बाद जब लोग निकल रहे थे, तब वहां कुछ यूट्यूबर्स ने यूपी के अतीक अहमद और अशरफ के शूटआउट प्रकरण पर राय मांगी। इस दौरान कुछ लोग ‘अतीक अहमद अमर रहे’ के नारे लगाने लगे। इसके साथ ही, लोगों ने ‘मोदी-योगी मुर्दाबाद’ के नारे भी लगाए। यह वाकया उसवक्त हुआ, जब वहां सुरक्षा के लिए पुलिस बल तैनात थी। लेकिन पुलिस के जवानों ने नारेबाजी करने वालों से दूरी बनाये रखी। जामा मस्जिद के बाहर अलविदा की नमाज के बाद जब बीच सड़क पर शहीद अतीक अहमद अमर रहे और मोदी-योगी मुर्दाबाद के नारे लगने लगे तो लोग हैरान रह गये। नमाज पढ़ कर उठे लोगों के एक समूह ने सडक पर नारेबाजी करनी शुरू कर दी। लोगों ने कहा कि अतीक अहमद को फसाया गया है और ’प्लान वे’ में योगी सरकार ने अतीक अहमद को मरवाने का काम किया है। पूरे दुनिया के मुसलमानों के नजर में अतीक अहमद शहीद हो गया है। लोगों ने काफी देर तक नारेबाजी की। इस दौरान कोई पुलिसवाले उनकी ओर झांकने तक नहीं आए। नारेबाजी का नेतृत्व कर रहे व्यक्ति ने अपना नाम रईस गजनवी बताया। उसने मीडिया के सामने कहा कि आज हमने दुआ किया..या अल्लाह, अतीक अहमद की शहादत को कबूल फरमा। आज हमने यही दुआ किया अल्लाह से कि अतीक अहमद, अशरफ अहमद और असद अहमद की शहादत को कबूल फरमा। उन्हें मारा गया। योगी सरकार ने उन्हें ’प्लांड वे’ में मरवाया। इसमें कोर्ट, मीडिया, सरकार और पुलिस सबका हाथ है। रईस गजनवी ने कहा कि शहीद हुआ है अतीक अहमद। रोजा के दिन में उसको सरकार और पुलिस ने अपराधियों के जरिये मरवाया। पूरी दुनिया के मुसलमानों की नजर में वह शहीद हो गया। उसकी हत्या के लिए कोर्ट भी जिम्मेवार है। इस मामले में कोतवाली थानाध्यक्ष संजीत कुमार ने कहा कि वरीय अधिकारियों से अनुमति थे कर  सामाजिक सौहार्द्र बिगाड़ने की चेष्टा करने के आरोप में यूट्यूबर्स पर भी प्राथमिकी की जाएगी। सीसीटीवी फुटेज निकाला जा रहा है।उधर, अतीक अहमद के पक्ष में नारे लगाए जाने पर भाजपा ने हमला बोला है। भाजपा विधायक हरिभूषण ठाकुर बचौल ने कहा कि अतीक अहमद एक खूंखार अपराधी था। ऐसे लोगों को चौहरे पर खड़ा करके गोली मार देना चाहिए। लेकिन वोट बैंक के लालच में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव चुपचाप बैठे हैं। उन्होंने कहा कि बिहार की जनता सब देख रही है, अगर इन लोगों पर कार्रवाई नहीं होगी तो, बिहार की जनता छोड़ेगी नहीं। आने वाले समय में अगर भाजपा की सरकार बनेगी तो ऐसे लोगों के घर पर बुलडोजर चलेगा। समय का इंतजार करना है, चौराहे पर इन लोगों का इनकाउंटर होगा।

Share This Article
Leave a comment