तारा शाहदेव मामला- दुष्क;र्म, धोखाधड़ी, धर्म परिवर्तन के दोषी रंजीत उर्फ रकीबुल को आखिरी सांस तक सजा

Faisal Raj
Faisal Raj 3 Min Read

रांची। नेशनल शूटर तारा शाहदेव के पति को दुष्कर्म, धोखाधड़ी से शादी करने और अपनी तत्कालीन पत्नी के धर्म परिवर्तन के प्रयास के आरोप में रांची की एक विशेष सीबीआई अदालत ने रंजीत कोहली उर्फ रकीबुल हसन को अंतिम सांस तक कैद की सजा सुनाई। यह फैसला गुरुवार को अलग-अलग दो धाराओं में सुनाई गई। उधर इसी मामले में सीबीआई के विशेष न्यायाधीश पी के शर्मा की अदालत ने झारखंड हाईकोर्ट के पूर्व रजिस्ट्रार (निगरानी) मुश्ताक अहमद को 15 साल एवं कोहली की मां कौशल रानी को 10 साल कैद की सजा सुनाई।

अदालत ने रंजीत उर्फ रकीबुल पर सवा लाख एवं अन्य पर 50-50 हजार का जुर्माना भी लगाया है। जुर्माना नहीं देने पर कोहली को अतिरिक्त 18 माह एवं अन्य को अतिरिक्त छह-छह माह की जेल काटनी होगी। सजा के तथ्यों पर सुनवाई के दौरान जेल में बंद तीनों अभियुक्तों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से अदालत में पेश किया गया। अदालत ने बताया कि अपराध का तरीका और उसकी गंभीरता को देखते हुए सजा दी गई है।

अदालत ने रंजीत उर्फ रकीबुल को आपराधिक साजिश रचने स‎हित एक ही औरत के साथ लगातार दुष्कर्म करने के आरोप में सजा सुनाई है। अन्य दोनों को एक ही महिला के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम देने के आपराधिक साजिश के जुर्म में सजा सुनाई गई है। अदालत ने तीनों को 30 सितंबर को दोषी ठहराया था। सीबीआई के वरीय लोक अभियोजक प्रियांशु सिंह की ओर से पेश 26 गवाहों एवं दस्तावेजों के आधार पर यह सजा सुनाई गई।

तारा शाहदेव के अनुसार, वह अपने पति को पूर्व रजिस्ट्रार मुश्ताक के जरिए जानती थी। मुश्ताक उसके और रंजीत के जबरन निकाह कराने के लिए एक मौलवी को भी लाया था, जिससे उसने पहली बार हिंदू रीति-रिवाज से शादी की थी। इस अपराध के लिए रजिस्ट्रार को सेवा से भी बर्खास्त कर दिया गया था। तारा शाहदेव ने 7 जुलाई 2014 को हिंदू परंपरा के अनुसार रंजीत उर्फ रकीबुल हसन से शादी की, जिसने अपना धर्म छिपाया था। 8 जुलाई को निकाह के जरिए उनकी शादी संपन्न कराने की कोशिश की गई। शादी के बाद शूटर को अमानवीय यातनाएं दीं, जिसमें कुत्ते से कटवाना, बुरी तरह पिटाई और धर्म परिवर्तन करने के लिए लगातार धमकियां देना शामिल है। तंग आकर तारा ने 19 जुलाई 2014 को हिंदपीढ़ी थाने में अपने तत्कालीन पति और उसकी मां के खिलाफ मामला दर्ज कराया था।

Share This Article
Leave a comment