तेजस्वी जल्द ही संभाल लेंगे बिहार का बागडोर : जगदानंद सिंह

Desk Editor
Desk Editor 4 Min Read

पटना :  राजद नेताओं में इस बात को लेकर छटपटाहट है कि कैसे जल्द से जल्द तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री की कुर्सी सौंप दी जाये। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने एक बार फिर इसका इजहार कर दिया। जगदानंद ने शुक्रवार को संकेतों में कहा कि उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव जल्द ही बिहार में सरकार का बागडोर संभाल लेंगे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव का आशीर्वाद मिला हुआ है और वे जल्द ही देश का नेतृत्व करेंगे। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार जल्द ही देश यात्रा पर निकलेंगे। दरअसल, काफी दिनों से यह बातें हो रही हैं कि नीतीश कुमार मुख्यमंत्री का पद छोड़कर देश के प्रधानमंत्री बनने के लिए विपक्षी एकता को आगे बढ़ाएंगे। ऐसे में बिहार में कमान तेजस्वी यादव को मिल सकती है। जगदानंद ने कहा कि जिस तरह लालू यादव के सहयोग और समर्थन से एचडी देवेगौड़ा वर्ष 1996 में देश के प्रधानमंत्री बने थे, उसी तरह अब नीतीश कुमार को भी लालू ने आशीर्वाद दे दिया है। उन्होंने कहा कि लालू एक कर्मठ नेता हैं। जब उन्होंने नीतीश को टीका लगा दिया है तो नीतीश जल्द ही देश की यात्रा पर निकल जाएंगे। भले ही लालू की ओर से लगाया गया, वह टीका दिख नहीं रहा हो, लेकिन आज नहीं तो कल किसी न किसी को जाना ही है तो नीतीश कुमार जाएंगे। पत्रकारों ने राजद के प्रदेश अध्यक्ष से जब यह पूछा कि क्या नीतीश कुमार में प्रधानमंत्री बनने की क्षमता है। जगदानंद सिंह ने कहा कि बिहार की मिट्टी में बहुत क्षमता है। महात्मा गांधी ने यहीं से आंदोलन शुरू किया, जेपी ने यहीं से आंदोलन किया। बिहार के लालू प्रसाद यादव ने देवेगौड़ा और इंद्र कुमार गुजराल को प्रधानमंत्री बना दिया। उन्होंने कहा कि लालू यादव ने नीतीश कुमार को दही का टीका लगाकर आशीर्वाद दिया है। वह टीका दिखता नहीं है, लेकिन अभी भी नीतीश कुमार के माथे पर लगा हुआ है। लालू प्रसाद यादव जैसे नेता ने जिसे आशीर्वाद दे दिया उसे प्रधानमंत्री बनने से कौन रोक सकता है। लालू प्रसाद ने सच्चे मन से नीतीश कुमार को प्रधानमंत्री बनने का आशीर्वाद दिया है। उनका आशीर्वाद जरूर पूरा होगा। इसके साथ ही अमित शाह पर तंज कसते हुए जगदानंद सिंह ने कहा कि हम और हमारी पार्टी ‘हे राम’ में विश्वास करते हैं ‘श्रीराम’ में नहीं। हमारे हृदय में राम है पत्थर या मंदिरों में नहीं। उन्होंने कहा कि श्री राम ना तो अयोध्या में है और ना ही लंका में बल्कि श्री राम शबरी की कुटिया में रहते हैं। वो आज भी वहां मौजूद हैं। अब श्रीराम वाले लोग उन्हें अपनी दिल से निकाल कर मंदिरों में बैठा रहे हैं। जगदानंद सिंह ने अमित शाह से सवाल करते हुए कहा कि क्या श्री राम रामायण से भाग जाएंगे, या वो लोगों के दिलों में से भाग जाएंगे, क्या भारत राम का नहीं रहेगा? अब लग तो यही रहा है कि वो सिर्फ और सिर्फ मंदिर ही राम का रहेगा। देश में सिर्फ नफरत की जमीन पर मंदिर का निर्माण हो रहा है। अब इस देश में इंसानियत नहीं बची है। अब उन वादियों के राम बचे हुए हैं। इसके आगे उन्होंने कहा कि भारत में अबतक यह माना जाता था की राम  सब के दिलों में है। वो पूरा देश में है। भारत के राम भारत के कण-कण में रहेंगे। भारत में राम को लोगों के दिलों में से छीन कर सिर्फ पत्थरों के आलीशान भवन में बैठाया नहीं जा सकता। भगवान राम कभी भी कैद नहीं हुए हैं।

Share This Article
Leave a comment