सीएम के जनता दरबार में नहीं हो रहा है फरियादियों की समस्याओं का हल

Desk Editor
Desk Editor 4 Min Read

पटना : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के जनता दरबार में सोमवार को कुल 106 फरियादियों ने अपनी शिकायत रखी। इसमें कॉलेज से लेकर अस्पताल तक और जमीन से लेकर स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड तक से जुड़ी समस्यायें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सुनी और फिर संबंधित विभाग के अधिकारियों को कार्रवाई का निर्देश दिया। इस दौरान इस बात का भी खुलासा हुआ कि जनता दरबार में कई बार अपनी फरियाद रखने के बावजूद फरियादियों की समस्या का हल नहीं हो सका। वहीं जनता दरबार एक अजीबोगरीब मामला सामने आया, जब एक असिस्टेंट प्रोफेसर ने अपने फरियाद सुनाते हुए कहा कि जब मैंने अपने मामले की शिकायत लालू से की तो उन्होंने मेरे ऊपर थप्पड़ चला दिया। जिसे सुनकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी पहले अचंभित रह गए, फिर मामले को समझ कर मुस्कुराने लगे। दरअसल, जनता दरबार में शिक्षा विभाग से जुड़ी शिकायत लेकर एक असिस्टेंट प्रोफेसर पहुंचा। उसने कहा कि वो 26 मार्च 2021 को अपनी क्लास ले रहा था। उस दिन कुछ संगठनों की ओर से बिहार बंद बुलाया गया था। लेकिन विश्वविद्यालय प्रशासन के तरफ से किसी तरह की छुट्टी का आदेश नहीं दिया गया था। तभी 12:00 बजे दोपहर में एक दल विशेष के छात्र संघ के 20 से 25 लड़के आए और मेरे ऊपर चीखने-चिल्लाने लगे कि आप कैसे क्लास चला रहे हैं? मैं अपनी बात रखी ही रहा था, तब तक एक लड़के लालू यादव ने मेरे ऊपर थप्पड़ चला दिया और उसके पीछे खड़े चंदन यादव ने भी मेरी पिटाई कर डाली। जिसके बाद मैंने थाने में जाकर प्राथमिकी दर्ज करवाया तो उन्होंने मुझे झूठे एससी-एसटी केस में फंसा दिया। जबकि मेरी प्राथमिकी पर अभी तक कोई भी एक्शन नहीं लिया गया। वहीं, प्रोफेसर की बातों को सुनकर मुख्यमंत्री ने गृह विभाग के सचिव को फोन लगाने का आदेश दिया और कहा किे जरा देख लीजिए एक लड़का बांका से आया है। मुख्यमंत्री के पास एक और फरियादी पहुंचा और उसने कहा कि एक साल पहले उसने अंतरजातीय विवाह किया है। लेकिन राज्य सरकार के तरफ से मिलने वाली मदद अब तक नहीं मिल पाई है। यह सुनकर नीतीश कुमार भी भौचक्का रह गए। नीतीश कुमार ने शख्स से सवाल किया कि कब आप ने शादी की है। जबाब में युवक ने कहा कि उसने 2021 में शादी की थी। जिसके बाद नीतीश कुमार ने कहा कि पहले आप यहां आए थे क्या तो युवक ने कहा जी आया था। इसके बाद सीएम नीतीश कुमार ने उससे पूछा कि आप कब आए थे, जनता दरबार में तो उसने बोला कि दो-चार महीने पहले ही वह यहां आया था। जिसके बाद मुख्यमंत्री भौचक्क रह गए। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसी में आप आए थे, पक्का बोल रहे हैं याद करके बोल रहे हैं ना। इसके बाद युवक ने कहा हां सर तो फिर भी अपने सवाल दोहराते हुए कहा कि आप जनता दरबार में आए थे तो युवक ने कहा जी सर बिल्कुल जनता दरबार में ही आया था उसके बाद सीएम ने तुरंत अधिकारियों को फोन लगाने को कहा। इस तरह जनता दरबार में कई ऐसे फरियादी आए थे जिनका बार-बार आने के बावजूद समस्या का हल नहीं हो सका। यह सुनकर मुख्यमंत्री दंग रह गए।

Share This Article
Leave a comment