रोजगार मेले का ‘तमाशा’ भाजपा को नौकरियां खत्म करने वाले की पहचान दे रहा : जयराम रमेश

Desk Editor
Desk Editor 2 Min Read

नयी दिल्ली : कांग्रेस ने सरकार के ‘रोजगार मेले’ को लेकर मंगलवार को आरोप लगाया कि यह ‘तमाशा’ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को नौकरियां खत्म करने वाले की पहचान दे रहा है। पार्टी महासचिव जयराम रमेश ने यह दावा भी किया कि रोजगार मेले के तहत नयी नौकरियां नहीं मिली हैं, बल्कि पहले से ही स्वीकृत पदों के तहत नियुक्ति पत्र बांटे गए हैं। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने सरकारी नौकरियों में नियुक्तियों में ‘भाई-भतीजावाद और भ्रष्टाचार’ को बढ़ावा देने के लिए मंगलवार को ‘परिवारवादी’ राजनीतिक दलों पर निशाना साधा और कहा कि ऐसी पार्टियों ने विभिन्न पदों के लिए अपने ‘रेट कार्ड’ से युवाओं को ‘लूटा’ है जबकि उनकी सरकार उनके उज्ज्वल भविष्य को ‘सुरक्षित’ करने के लिए काम कर रही है।उन्होंने रोजगार मेले के तहत 70,126 नव-नियुक्त कर्मचारियों को नियुक्ति पत्र वितरित किए।रमेश ने ट्वीट किया, ‘‘हमें एक एकदम स्पष्ट होने की जरूरत है। रोजगार मेले का मतलब नयी नौकरियां नहीं हैं। इससे सिर्फ यह काम हो रहा है कि शासन को पूरी तरह से व्यक्तिकेंद्रित बनाया जा रहा है। लोगों को पहले ही स्वीकृत पदों के अनुसार और वर्षों तक चली भर्ती प्रक्रिया से गुजरने के बाद सरकारी नौकरियां मिल रही हैं।’’उन्होंने दावा किया, ‘‘पिछले नौ वर्षों में नौकरियों के सृजन में पूरी तरह से विफल रहने वाले प्रधानमंत्री अब ऐसा दिखा रहे हैं, मानो उनकी तरफ से कोई विशेष कृपा की जा रही है और उनकी बदौलत ऐसा हो रहा है। मैं ऐसी कुछ प्रमुख शैक्षणिक संस्थाओं को जानता हूं जिनसे कहा गया था कि उनके यहां के नियुक्ति पत्र स्वयंभू विश्वगुरू के तमाशे के तहत सौंपे जाएंगे।’’कांग्रेस महासचिव ने आरोप लगाया, ‘‘यह पूरा तमाशा भाजपा को नौकरियां खत्म करने वाले के रूप में पहचान दे रहा है और अब वह सुर्खियों में रहने की कवायद में लग गए हैं।’’

Share This Article
Leave a comment