बिहार विधान मंडल का शीतकालीन सत्र शुरु

Desk Editor
Desk Editor 3 Min Read

पटना। बिहार विधानमंडल का पांच दिवसीय शीतकालीन सत्र मंगलवार को शुरू हो गया। सत्र के पहले दिन राष्ट्रगान से सदन की कार्यवाही शुरू हुई। राष्ट्रगान के बाद विपक्षी भाजपा सदस्यों ने भारत माता की जय और जय श्री राम के नारे लगाये। वहीं, सत्तापक्ष के विधायकों ने जय भीम की नारेबाजी की। इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष अवध बिहारी चौधरी ने कहा कि आज पहला दिन है। सभी लोग शांति बनाकर रखें। विधानसभा अध्यक्ष ने इस सत्र के लिए अध्याशी सदस्य के रूप में प्रेम कुमार, नरेंद्र नारायण यादव, विजय शंकर दूबे, भूदेव चौधरी और ज्योति देवी को मनोनीत किया। इसके साथ ही कार्यमंत्रणा समिति के गठन और उनके नाम का ऐलान किया। इसके बाद वित्तमंत्री विजय चौधरी ने वित्तीय वर्ष 2022-23 के द्वितीय अनुपूरक व्यय विवरणी पेश की। विधानसभा में कुढ़नी से जीते उम्मीदवार के शपथग्रहण का मामला भी उठा। विपक्ष के नेता विजय सिन्हा ने कहा कि नवनिर्वाचित सदस्य का शपथ ग्रहण हो जाना चाहिए। इस पर अध्यक्ष अवध बिहारी चौधरी ने कहा कि अभी राज्यपाल के यहां से पत्र नहीं आया है। इसके बाद सरकार की तरफ से संसदीय कार्य मंत्री विजय चौधरी ने कहा कि सरकार भी चाहती है कि नवनिर्वाचित सदस्य का जल्द से जल्द शपथ हो। एक घंटे चली कार्यवाही में सरकार ने 19 हजार 48 करोड़ का अनुपूरक बजट और माल एवं सेवाकर विधेयक सदन के पटल पर रखा। बाद में विधानसभा अध्यक्ष ने हाल ही में दिवंगत हुए विधायकों, विधान पार्षदों और अन्य गणमान्य का नाम लेते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी और सभी सदस्यों के 2 मिनट के मौन के बाद कल तक के लिए सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी। विधानसभा की कार्यवाही शुरू होते ही विधानसभा अध्यक्ष अवध बिहारी चौधरी ने सभी विधायकों को स्वागत करते हुए कहा कि उन्हें उम्मीद है कि जनता के हित में सदन को चलाने में सभी सदस्यों का सहयोग मिलेगा। विधान परिषद में सभापति देवेश चन्द्र ठाकुर ने सदन की कार्यवाही का संचालन किया। विधान परिषद में भी पहले दिन दिवंगत नेताओं और अन्य गणमान्य लोगों को श्रद्धांजलि देने के साथ ही बुधवार तक के लिए कार्यवाही स्थगित कर दी गयी।

Share This Article
Leave a comment